Saturday, April 8, 2017

बोधिवृक्ष

बोधिवृक्ष
*******
“आँगन में यहाँ जो वृक्ष खड़ा है
कहना गलत नही कि वह इस सूबे.. पृथ्वी..
सारे ब्रह्म में खडा है”

यह तथ्य
एक सत्यबोध बनकर
जिनके ह्रदय में उतरा होगा
उनके लिए वह वृक्ष... केवल वृक्ष नही
एक बोधिवृक्ष बन गया होगा
-अरुण

No comments: