Saturday, March 8, 2014

जानता हूँ पर देख नहीं पाता



जिस रास्ते पर चलता हूँ
वहां की सभी बाधाओं के बारे में भलीभांति जानता हूँ.
हर गढ्ढे की गहराई का समुचित ज्ञान है,
फिर भी हर बार धोखा खा जाता हूँ,
फिर फिर, बाधाओं से टकराता हूँ, गढ्ढ़ों में गिर जाता हूँ,
शायद, बाधाएं जब सामने होतीं हैं... मै उन्हें देख नहीं पाता
-अरुण

No comments: