Monday, February 10, 2014

क्या अच्छा है ?



होश खोकर बेहोश हो जाने से अच्छा है
होश में बेहोश हो जाओ
असावधानी में भूल करने से अच्छा है
सावधानी से भूल को जन्मते देखो
-अरुण

No comments: