Friday, December 10, 2010

ध्वनि है शब्द, संकेत है अर्थ

सृष्टि ने दिए

ध्वनि नाद और आकार के रूप में

शब्द

जीव ने दिया उसे

संकेत या मन्शा के रूप में

अर्थ

इसी से बनी सारी भाषा और

इसी से बना भाषाकार

...

सृष्टि न होती तो

जीव न होता और न ही होते

शब्द और अर्थ

और न ही होते

भाषा और भाषाकार

................................... अरुण









No comments: