Thursday, December 19, 2013

धर्म संकट में तो उलझी है दिल्ली की जनता



उबानेवाली पार्टियों और राजनीति को खदेड़ने के लिए दिल्ली की जनता ने अरविन्द केजरीवाल की लाठी (आम आदमी पार्टी) का इस्तेमाल तो कर लिया पर अब जब नयी व्यवस्था स्थापित करने की बात चल पड़ी है .. अरविन्द की लाठी किसी काम न आ रही, यह लाठी तो सिर्फ खदेड़ना जानती है, सरकार बनाना या चलाना नहीं. यह नया अनुभव सीखने के लिए केजरीवाल को अभी कुछ और समय चाहिए.
यह अवसर उन्हें मिले या न मिले ... अभी कुछ कहा नहीं जा सकता.
-अरुण  
  

No comments: