Saturday, September 13, 2014

भगवद् गीता केवल एक बोध प्रसंग

भगवद् गीता केवल एक बोध प्रसंग
**********************************
कई सच्चे, काल्पनिक, पौराणिक या ऐतिहासिक क़िस्से..... सुननेवाले को बहुत कुछ देते, सिखाते या जीवन की सच्चाई पर प्रकाश डालते हुए उसके दिल को छू लेते हैं । बहुत बार ऐसा होता है कि हमारी दिलचस्पी ऐसे क़िस्सों से सीधे सीधे कुछ लेने के बजाय किस्सोंका  बौद्धिक विश्लेषण या अन्वेषण करने में हो जाती है ।
उपरोक्त तथ्य पर ग़ौर करते यह स्पष्ट हो जाता है कि भगवद् गीता केवल एक बोध प्रसंग है... सत्य-दर्शन है, नीति का पाठ पढ़ानेवाला....उपदेश ग्रंथ या Role Model नही ।
- अरुण

No comments: