Sunday, September 21, 2014

घट घट में पानी भरा........

घट घट में पानी भरा, मिट गया रीतापन
पानी को कैसे मिले?,  वह जो रीतापन
-अरुण
************
शून्यत्व.... मस्तिष्क की ( तुलना घट या घड़े से)  स्थिती है, और मन है मस्तिष्क में  विषयवस्तुओं (तुलना पानी से) का संचार ।  अब सवाल यह है कि..... विषयवस्तु को, या यंू कहें, मन को..... शून्यत्व तक ( तुलना रीतेपन से )  पहंुचना या पाना कैसे संभव है? .... हाँ, संभव है, कैसे?...इसपर सघन चिंतन, या contemplation ज़रूरी है ।
- अरुण

1 comment:

Ankur Jain said...

गहरे भाव...