Tuesday, November 16, 2010

आज का शेर

सवाल उठने से पहले जबाब हाजिर हो

ऐसा माहोल गुलामों के लिए अच्छा है

................................................. अरुण

No comments: