Saturday, November 20, 2010

नैतिक मूल्यों में गिरावट

ऐसी गिरावट के एक नमुने के रूप में,

किसी राजनीतिक पार्टी द्वारा किए गये कुछ ऐसे बयान

आजकल भारत में पढने-सुनने को मिलते हैं

--

हमारी पार्टी आपके पार्टी जैसी

भ्रष्ट नही है. यह ईमानदार लोगों की पार्टी है

हमारे यहाँ अगर कोई मिनिस्टर अपने रिश्तेदारों में

सार्वजनिक जमीन गलती से बाँट भी देता है

तो यह बात सार्वजिक तौर पर उजागर होने पर,

उनसे वापस लेकर जनता को लौटा भी देता है.

आपके पार्टी के मिनिस्टर जैसा नही कि खाए और डकार जाए

........................................... अरुण

No comments: