Friday, August 6, 2010

समुद्र की लहरों को अहंकार....

समुद्र की लहरों को अगर

ख्याल हो जाए अपने लहर होने का

तो वे समुद्र के बहाव पर अपना जोर आजमाएंगी

बहाव को अपने मनचाहे ढंग से मोडने की

कोशिश करेंगी

अपना अस्तिव बचाने के लिए संगठित होंगी

किसी भी संगठन में होता है वही बात

उनमें भी होगी

वे भी आपस में लढेंगीं

अपने गुट बनाएंगी

.................................. अरुण

No comments: