Sunday, August 8, 2010

कठनाई राजनीतिज्ञों की

तथाकथित राजनीतिज्ञों की

सबसे बड़ी

कठनाई यही है कि

उनकी सारी प्रेरणा

स्वार्थ से भरी होते हुए भी

उन्हें लोक-कल्याण में रूचि दिखानी पड़ती है

लोगोंकी निगाह में अपनी अच्छी प्रतिमा

बनाए रखने के लिए

खुद से ही झगडते रहना पडता है

........................................... अरुण

1 comment:

ranjana said...

khud se jhgdna bahut kathin kaam hai,,,,,,,har kisi ke bas ka nahi,aur rajnitigya mahir hote hai.