Tuesday, July 13, 2010

किताबें अनुभव नहीं देतीं

योगी अपने अनुभवों की लिखकर

योग पर किताब छापे

यह बात तो समझ में आती है

पर उस किताब को पढकर

कोई योगाभ्यास करे ये बात

समझ में नहीं आती

अनुभवों पर किताब लिखी जाती है

पर किताब पढ़ने से अनुभव नहीं होते

हाँ, अनुभव की कल्पना की जा सकती है

कल्पना सघन हो तो अनुभव की

भ्रान्ति भी हो सकती है

पर अनुभव नहीं

............................................... अरुण


No comments: