Monday, July 26, 2010

दवा का सेवन नही केवल पूजन

मूढता में निद्रस्थ को

जगाने हेतु

पहले से जागे लोगों ने

आवाज दी, उच्चार किया

पर निद्रस्थ जागा नहीं

हाँ, इतना ही हुआ कि

निद्रा में ही वह

उस आवाज या उच्चार की

प्रतिमाओं को पूजने बैठ गया

....................................... अरुण

1 comment:

Udan Tashtari said...

बहुत सही!